\u0938\u094b\u0928\u0942 \u0928\u093f\u0917\u092e \u0915\u0947 \u0938\u092e\u0930\u094d\u0925\u0928 \u092e\u0947\u0902 \u0906\u090f \u0930\u0923\u0926\u0940\u092a \u0939\u0941\u0921\u094d\u0921\u093e, \u0915\u0939\u093e- \u0909\u0928\u094d\u0939\u094b\u0902\u0928\u0947 \u0927\u0930\u094d\u092e \u0928\u0939\u0940\u0902, \u0932\u093e\u0909\u0921\u0938\u094d\u092a\u0940\u0915\u0930 \u0915\u0947 \u0916\u093f\u0932\u093e\u092b \u092c\u094b\u0932\u093e \u0925\u093e

1
    t
  1. मुखपृष्ठ
  2. t

  3. मनोरंजन

सोनू निगम ने ट्वीट किया था, ‘मैं मुस्लिम नहीं हूं, फिर भी मुझे अजान से क्यों जागना पड़ता है। कब बंद होगी ये गुंडागर्दी।’

सोनू निगम के ट्वीट के बाद काफी विवाद हुआ था।

‘अजान विवाद’ को लेकर बॉलीवुड एक्टर रणदीप हुड्डा भी सिंगर सोनू निगम के समर्थन में आ गए हैं। सोनू निगम ने ट्वीट करके धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर सवाल उठाए थे। इनके ट्वीट के बाद काफी विवाद हुआ था। बाद में एक मौलवी ने बयान दिया था कि जो भी शख्स सोनू निगम का सिर गंजा कर देगा, वह उसे दस लाख रुपए देंगे। इस पर सोनू निगम का समर्थन करते हुए रणदीप हुड्डा ने कहा कि सिंगर ने जो भी बयान दिया है, वह लाउड स्पीकर के खिलाफ है, ना कि किसी धर्म के खिलाफ। इसके लिए हुड्डा ने टि्वटर का सहारा लिया है। उन्होंने ट्वीट किया है, ‘सोनू निगम का बयान लाउडस्पीकर के इस्तेमाल के खिलाफ था, ना कि किसी धर्म के खिलाफ।’

‘फतवा’ जारी करने वाले मौलवी सैयद शाह आतिफ अली अल कादरी को जवाब देते हुए सोनू निगम ने खुद से अपना सिर मुंडवा लिया। कादरी ने कहा था, ‘अगर कोई सोनू निगम का सिर गंजा कर देता है और उसे पुराने जूतों की माला पहनाकर पूरे देश में घुमाता है तो मैं उसे 10 लाख रुपए दूंगा।’ इसके बाद सोनू निगम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करके अपने सफाई दी। उन्होंने कहा कि मैंने किसी एक विशेष धर्म के खिलाफ नहीं बोला था। मैं हर एक धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के खिलाफ हूं। किसी पर धर्म जबरन नहीं थोपा जा सकता।

सोनू निगम ने जैसे ही ये ट्वीट किया, उसके बाद लोगों ने उनकी आलोचना शुरू कर दी, हालांकि, कुछ लोग उनके समर्थन में भी आए। बॉलीवुड भी इस मुद्दे पर आपस में बंट गया। जहां कुछ लोगों ने सोनू निगम पर निशाना साधा तो वहीं कुछ लोगों ने उनका समर्थन भी किया।

बता दें, सोनू निगम ने ट्वीट किया था, ‘मैं मुस्लिम नहीं हूं और मुझे सुबह अजान की आवाज सुनाई देती है, जिससे मेरी नींद खुल जाती है। भारत में यह जबरदस्ती की धार्मिकता कब बंद होगी?’ साथ ही उन्होंने कहा था, ‘जब मोहम्मद ने इस्लाम बनाया था तब तो बिजली नहीं थी। एडिशन के बाद मुझे ये शोर सुनने को क्यों मिलता है? मैं नहीं मानता कि किसी गुरुद्वारे और मंदिर द्वारा लाउडस्पीकर के जरिए उन लोगों को उठाना सही है जो कि धर्म का पालन नहीं करते।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 21, 2017 11:11 am

सोनू निगम के ट्वीट के बाद काफी विवाद हुआ था।

‘अजान विवाद’ को लेकर बॉलीवुड एक्टर रणदीप हुड्डा भी सिंगर सोनू निगम के समर्थन में आ गए हैं। सोनू निगम ने ट्वीट करके धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर सवाल उठाए थे। इनके ट्वीट के बाद काफी विवाद हुआ था। बाद में एक मौलवी ने बयान दिया था कि जो भी शख्स सोनू निगम का सिर गंजा कर देगा, वह उसे दस लाख रुपए देंगे। इस पर सोनू निगम का समर्थन करते हुए रणदीप हुड्डा ने कहा कि सिंगर ने जो भी बयान दिया है, वह लाउड स्पीकर के खिलाफ है, ना कि किसी धर्म के खिलाफ। इसके लिए हुड्डा ने टि्वटर का सहारा लिया है। उन्होंने ट्वीट किया है, ‘सोनू निगम का बयान लाउडस्पीकर के इस्तेमाल के खिलाफ था, ना कि किसी धर्म के खिलाफ।’

‘फतवा’ जारी करने वाले मौलवी सैयद शाह आतिफ अली अल कादरी को जवाब देते हुए सोनू निगम ने खुद से अपना सिर मुंडवा लिया। कादरी ने कहा था, ‘अगर कोई सोनू निगम का सिर गंजा कर देता है और उसे पुराने जूतों की माला पहनाकर पूरे देश में घुमाता है तो मैं उसे 10 लाख रुपए दूंगा।’ इसके बाद सोनू निगम ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित करके अपने सफाई दी। उन्होंने कहा कि मैंने किसी एक विशेष धर्म के खिलाफ नहीं बोला था। मैं हर एक धार्मिक स्थल पर लाउडस्पीकर इस्तेमाल करने के खिलाफ हूं। किसी पर धर्म जबरन नहीं थोपा जा सकता।

सोनू निगम ने जैसे ही ये ट्वीट किया, उसके बाद लोगों ने उनकी आलोचना शुरू कर दी, हालांकि, कुछ लोग उनके समर्थन में भी आए। बॉलीवुड भी इस मुद्दे पर आपस में बंट गया। जहां कुछ लोगों ने सोनू निगम पर निशाना साधा तो वहीं कुछ लोगों ने उनका समर्थन भी किया।

बता दें, सोनू निगम ने ट्वीट किया था, ‘मैं मुस्लिम नहीं हूं और मुझे सुबह अजान की आवाज सुनाई देती है, जिससे मेरी नींद खुल जाती है। भारत में यह जबरदस्ती की धार्मिकता कब बंद होगी?’ साथ ही उन्होंने कहा था, ‘जब मोहम्मद ने इस्लाम बनाया था तब तो बिजली नहीं थी। एडिशन के बाद मुझे ये शोर सुनने को क्यों मिलता है? मैं नहीं मानता कि किसी गुरुद्वारे और मंदिर द्वारा लाउडस्पीकर के जरिए उन लोगों को उठाना सही है जो कि धर्म का पालन नहीं करते।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

First Published on April 21, 2017 11:11 am